ViP Call Girls In Ludhiana 09646870399 Escorts Serivce Dugri BRS Nagar

Who Is Amanat malik (No1 Escorts Girls In Ludhiana Escorts More Of More Choyse ) Let me introduce Amanat Malik No1 of Ludhiana escorts. Amanat Malik is an independent girl who loves meeting new persons and satisfying their needs in every way possible Amanat Malik is in this field to

provide you the superb escorts for your private pleasure and needs s not about the sex only, you will get a deep pleasure and immunize your happiness with total satisfaction. Amanat malik does provide the best escorts service in Ludhiana with lots of seduction, pleasure and full of limitless fun in ludhiana, starting from erotic session to sensual pleasure. Amanat Malik is pretty looking, charming, and with voluptuous curves in the right place Contact Amanat Malik 9876010894

Ludhiana escorts, escorts in Ludhiana, independnet Ludhiana escorts, Ludhiana independnet escorts, Ludhiana escorts services, Ludhiana call girls, female escorts in Ludhiana is an Independent Female Ludhiana Escorts Services with high profile here for your entertainment and fulfill your desires in Ludhiana call girls best service Amanat Malik 9876010894

Housewife Escorts Tronica City Booking 24/7 College Call Girls .
This is the great opportunity for everyone who is looking for some fun to enjoy sexual pleasure without any limit at cheap price so he can do online booking of the service or can call on the mobile number updated on the website. Before doing this, one must visit the profile gallery of all the hot babes to know what they are capable of. You will find complete details about all

the beauties working with us as we keep updating it on the regular basis. All this effort is to give complete genuine and discrete service to all. All the photos of girls are quite recent. You are just a call away from meeting your dream girl who can do wonders in your life with her sensuality. Even a Whatsapp message or email can register you for the most desirable call girls service in Ludhiana.
Ludhiana Escorts, you are looking for the all immediate and special Amanat Malik 9876010894

मेरी उम्र 31 साल है, मेरा नाम सुमन है, मैं एक विधवा हूं, दुश्मनों ने मेरे पूरे परिवार को नष्ट कर दिया है। मैं बस बच गया और मेरा साला, जो उस समय केवल 10 साल का था, घर से बहुत अमीर है। लेकिन इससे पीड़ित कोई नहीं है। मेरे कोई बच्चे नहीं हैं, मैं अपने देवर की तरह बड़ा हो रहा हूं। वह 1 जनवरी को 21 साल का हो गया। उन्होंने 1 जनवरी को मुझसे कहा कि अब हम नए साल से एक नया जीवन जीएंगे। हमारे जीवन में बहुत सारी कठिनाइयाँ आई हैं, लेकिन अब मैं आगे नहीं आना चाहता; मैं भी 21 साल का हो गया हूं, मैं जीवन को नए सिरे से जीना चाहता हूं।


मैंने कहा कि शादी के 15 दिन बाद मेरी जिंदगी बर्बाद हो गई, लेकिन आपके सहयोग से मैंने अपनी जिंदगी जीने की सोची। यहां तक ​​कि मेरे परिवार के सदस्यों ने मुझसे दूसरी शादी करने के लिए कहा, लेकिन मुझे लगा कि मैं दूसरी शादी नहीं करूंगा। और तुम्हारे बड़े होने का इंतज़ार करने लगा। मैंने अपने घर और अपने पैसे दोनों को रखा, अगर मैं गलत था, तो मैं आज पूरे राज्य को बेचकर और अधिक मैल उड़ाकर यहां नहीं होता। लेकिन मैं यहां सिर्फ तुम्हारे लिए था।


तो जीजाजी ने कहा कि मुझे भी पता है कि तुम्हें कोई सुख नहीं मिला। लेकिन इस नए साल से मैं आपको पूरी खुशी दूंगा जो आपको नहीं मिली। दोस्तों, 1 जनवरी को, मैं बहुत खुश था क्योंकि मैंने सोचा था कि अब से, मैं एक अच्छा जीवन जीऊंगा। मैंने लखनऊ में अपने जीजा के साथ खाना खाया। सिनेमा देखते और रात को घर आते और नए साल का बहुत जश्न मनाते।


2 जनवरी है। शाम को हम दोनों ने खाना खाया और छत पर टहलने चले गए, देवर जी, जिनका नाम रवि है। उसने पूछा, एक बात बताओ, क्या तुमने जीवन में कुछ भी याद नहीं किया है? मैंने पूछा कि उन्होंने किस तरह की कमी के बारे में कहा, भैया की मृत्यु शादी के पंद्रह दिन बाद हुई। आप नई दुल्हन थीं। लोग शादी करते हैं ताकि उन्हें शारीरिक और मानसिक शांति मिल सके। लेकिन आप दोनों नहीं मिले, आज आप 31 साल के हो गए हैं। आपको कभी नहीं लगा कि किसी व्यक्ति की शारीरिक ज़रूरतें पूरी होनी चाहिए? तुम हमेशा अलग कमरे में सोते हो और मुझे अलग कमरे में सोने के लिए। आखिर क्या वजह है जो मैं जानना चाहता हूं।


तो मैंने कहा मैं तुम्हारे 21 साल के होने का इंतजार कर रहा था। ताकि मैं तुम्हारे साथ रह सकूं। मैंने कसम खाई कि मैं 21 साल से पहले अपने पहले हाथ को कभी नहीं छूऊंगा और मैंने तुम्हारे भाई को छुआ और जब तुम बड़े हो जाओगे और मैं सही हो जाऊंगा। हम दोनों हवेली की छत पर इस बारे में बात कर रहे थे। ये सब बातें सुनकर जीजाजी ने कहा कि मैं तो आज २१ जनवरी को और २ जनवरी को निकला हूँ, तो तुमने क्या सोचा? इसलिए मैंने एसईजेड बोली को सजाया है। बिस्तर पर गुलाब की पंखुड़ी है। मैं आज से एक नया जीवन जीना चाहता हूं, मैं अपनी सभी इच्छाओं को पूरा करना चाहता हूं। अब मैं माँ बनना चाहती हूँ और तुम्हें पति बनाती हूँ।


यह सुनकर, उसने मेरी आँखों में खड़े होकर मेरा गाल पकड़ लिया, लेकिन मैंने अभी तक बात नहीं की है, मैंने 10 साल इंतजार किया है, आज के लिए ऐसी छत पर नहीं। तुम तैयार हो जाओ क्योंकि दूल्हा तुम्हारे लिए आता है कपडे तैयार कर दी। कमला बाई आपका कपड़ा आलमारी में रख कर गई है। आप कमरे में बैठना मैं तैयार होकर आती हूँ।

और दोस्तों मैं करीब एक घंटे बाद वही सब कपडे जो मेरे शादी के दिन के थे वही पहन कर तैयार हुई सिंदूर लगाई। और कमरे में आ गई दूध का गिलास लेकर। मेरा देवर जो अब मेरा पति बन गया है। पाल पोस कर बड़ा की ताकि मैं पति बना सकूँ। दूध दी दूध पीया वो भी चकम रहे थे सिल्क के कुर्ते में। पलंग पर लेट गई पुरे कमरे में गुलाब की खुशबु आ रही थी।

उन्होंने मेरे ब्लाउज की डोरी पीछे से खोला। ब्रा का हुक खोला और पीठ पर किस किया मैं मचल गई। क्यों की मैं दस साल बाद रिश्ते बनाने जा रही थी। मैं गोद में लिटा लिए और अपनी चूचियां रवि के मुँह में दे दी। वो मेरी चूचियों को पीने लगा और मैं बाल सहलाने लगी वो हौले हौले दबा भी रहा था। मेरे मुँह से सिसकारिआं निकल रही थी। मैं पानी पानी हो गई थी। मैं बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी मेरे पुरे शरीर में हलचल हो रही थी। मैं लेट गई और वो मेरे ऊपर चढ़ गया।

दोस्तों मैं अपने साडी को उतार दी पेटीकोट का नाडा ढीला कर दी। उसने खुद ही पेटीकोट खोला निकाला मेरे कमर से लाल लाल वस्त्र थे सारे। वो मेरी चूत को चाटने लगा। मैं उसके बाल पकड़ कर चटवाने लगी। मैं वासना की आग में धधक रही थी। अब मेरे से रहा नहीं जा रहा था। मैं बोली अब मेरी प्यास बजा दो और उसने अपना लौड़ा निकाला और मेरे चूत पर रख कर घुसा दिया। दोस्तों जिसको मैं बड़ा की आज उसी से जिस्म की गर्मी पूरी कर रही थी। जैसे आप बकरे पालते हैं और एक दिन काट कर खाते हैं। मैं भी आज वही कर रही थी।

वो मेरी चूचियों को दबा रहा था और मुझे चोद रहा था। मैं चुदवा रही थी। चूचियां मुँह में दे रही थी। हरेक तरफ से खुश कर रही थी। अनाड़ी था पर मैं उसे चोदना सीखा रही थी। और पहली रात को करीब 4 बार हम दोनों ने पति और पत्नी की तरह चुदाई की एक दूसरे को खुश की। दोस्तों आज से मेरी ज़िंदगी में एक नई खुशियां आई है। अब मैं अपने देवर को पति बना ली हूँ। आज इसलिए मैं आप सभी पर अपनी कहानी शेयर कर रही हूँ। आप सब मेरे लिए दुआ कीजिये ताकि मेरी ज़िंदगी अब अच्छी चले.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *